दिल्ली:एक्सीडेंट की पीड़ित से रेप नहीं,40 चोटों के निशान मिले अंजलि के शरीर पर, हड्डी भी टूट गई थी सिर की

दिल्ली:एक्सीडेंट की पीड़ित से रेप नहीं,40 चोटों के निशान मिले अंजलि के शरीर पर, हड्डी भी टूट गई थी सिर की

दिल्ली के कंझावला हिट एंड रन केस में अंजलि की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप न होने की पुष्टि हुई है। सूत्रों ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंजलि के शरीर पर 40 जख्मों के निशान मिलने की बात है। सिर की हड्डी भी टूट गई थी।

दोस्त बोली- नशे में गाड़ी चला रही थी अंजलि

अंजलि की दोस्त निधि ने पुलिस को दिए बयान में हादसे की वजह कार सवारों की गलती को बताया है। हालांकि उसने अंजलि के नशे में होने की बात भी कही है। उसने दावा किया, अंजिल बहुत नशे की हालत में थी। मैंने उसे कहा था कि मुझे स्कूटी चलाने दे लेकिन उसने मुझे स्कूटी चलाने नहीं दी। कार से टक्कर हुई उसके बाद मैं एक तरफ गिर गई और वो कार के नीचे आ गई, उसके बाद गाड़ी के नीचे वह किसी चीज में अटक गई। उसे गाड़ी घसीटते हुए ले गई। मैं डर गई थी इसलिए मैं वहां से चली गई और किसी को कुछ नहीं बताया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, निधि ने बताया कि जब गाड़ी की टक्कर हुई तो वो डर गई जिसकी वजह से किसी को कुछ नही बताया। हादसे में गलती कार सवारों की थी। जब टक्कर हुई तो मेरी दोस्त कार वाली साइड गिरी और मैं दूसरी तरफ। मैं घबरा गई थी, इसलिए वहां से निकलकर सीधे घर पहुंची। हम दोनों एक साथ होटल में मौजूद थे।

वहीं, आरोपियों ने पुलिस को बयान दिया है कि स्कूटी सड़क पर लहरा रही थी जिसकी वजह से टक्कर हुई। फिलहाल, पुलिस दोनों तरफ के बयानों की जांच कर रही है।

दिल्ली के मंगोलपुरी के वाई ब्लॉक श्मशान घाट (विजय विहार रोड) में मृतका का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान पुलिस फोर्स की मौजूदगी रही। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतका के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजा दिए जाने और केस लड़ने के लिए सबसे अच्छा वकील नियुक्त किए जाने की बात कही है। वहीं, अंजलि की मां ने मीडिया से कहा कि हम चाहते हैं कि सभी पांचों आरोपियों को फांसी दी जाए। जनता सिर्फ इसलिए चुप नहीं बैठेगी कि मेरी बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

पोस्टमॉर्टम में सिर और रीढ़ पर गंभीर चोटें मिलीं

दिल्ली के स्पेशल कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) एसपी हुड्डा ने बताया कि पोस्टमॉर्टम में अंजलि के सिर, रीढ़ और बाएं फीमर पर चोटें और अधिक खून बह जाने से मौत होना बताया गया है। रेप की पुष्टि नहीं हुई है। इससे पहले पुलिस ने खुलासा किया था कि स्‍कूटी पर पीड़ित के साथ उसकी सहेली निधि भी थी। टक्कर के बाद मृतका कार में फंस गई और उसे 12 किमी. तक घसीटा गया। पहले 4 किमी घसीटने की बात सामने आई थी। स्कूटी पर जो दूसरी लड़की थी, वह हादसे के बाद मौके से भाग गई। उसे भी मामूली चोटें आई हैं।

होटल के CCTV फुटेज से खुलासा

पुलिस ने यह खुलासा रोहिणी इलाके के एक होटल के सामने के CCTV फुटेज के आधार पर किया। इसमें मृतका अपनी सहेली के साथ बातचीत करते हुए दिख रही है। इसके बाद दोनों स्कूटी पर बैठकर निकल जाती हैं। इस बीच, उस होटल के कर्मचारी ने बताया कि पीड़ित के साथ उसकी सहेली आई थी। दोनों ने डॉक्यूमेंट देकर एक रूम बुक किया था। कुछ लड़के भी आए थे, उन्होंने अलग से रूम बुक किया। इसके बाद वे लड़कियों के रूम में गए और वहां करीब 5 मिनट तक रहे।

होटल कर्मचारी ने बताया कि रूम से लड़ने की आवाज आ रही थी और एक-दूसरे को गाली दे रहे थे। हमारे मैनजेर ने सभी को झगड़ा न करने के लिए कहा। इसके बाद दोनों लड़कियां लड़ते हुए निकल गईं। वह होटल के बाहर भी काफी देर तक लड़ती रहीं, जो कि CCTV में रिकॉर्ड हुआ है। पुलिस को कल शाम फुटेज दे दिया गया है।

पूरी घटना को जानिए...

यह घटना कंझावला इलाके में 31 दिसंबर की रात करीब 2 बजे की है। कार सवार 5 युवकों ने 20 साल की एक युवती को टक्कर मार दी थी। हादसे के बाद युवक कार लेकर भाग निकले। लड़की कार के नीचे फंसी रही। पुलिस के मुताबिक, उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पांचों युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिससे पता चल सके कि उन्होंने नशा किया था या नहीं।

सभी आरोपी पुलिस की रिमांड पर

कोर्ट ने सोमवार को पांचों आरोपियों मनोज मित्तल, दीपक खन्ना, अमित खन्ना, कृष्ण और मिथुन को तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, एक्सीडेंट के दौरान दीपक खन्ना कार ड्राइव कर रहा था। इनमें मनोज मित्तल भाजपा का नेता बताया जा रहा है।

आरोपियों को लाकर क्राइम सीन रिक्रिएट करेगी पुलिस

दिल्ली पुलिस के स्पेशल CP डॉ. सागर पी हुड्डा ने बताया कि मेडिकल बोर्ड का गठन कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस की कई टीमों को भी जांच में लगाया गया है। कोर्ट ने आरोपियों को तीन दिन की पुलिस रिमांड की मंजूरी दे दी है। आगे अब पुलिस क्राइम सीन रिक्रिएट करेगी। फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से सबूत जुटाए हैं। CCTV फुटेज और डिजिटल एविडेंस के आधार पर टाइमलाइन बनाई जाएगी। इसके लिए आरोपियों को क्राइम स्पॉट पर लाया जाएगा। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ और धाराएं जोड़ी जाएंगीं

पुलिस की थ्योरी पर उठे सवाल

मामले में दिल्ली पुलिस की थ्योरी भी सवालों के घेरे में आ गई है। पुलिस का कहना है कि ये जानलेवा एक्सीडेंट है, लेकिन परिवार वाले इसे मर्डर कह रहे हैं। पीड़ित की मां का कहना है कि वह बहुत सारे कपड़े पहने थी, लेकिन जब उसकी बॉडी मिली तो वह पूरी तरह नेकेड थी। एक भी कपड़ा नहीं था। ये कैसा एक्सीडेंट है?

इधर, दिल्ली पुलिस की PRO सुमन अल्वा ने बताया कि कुछ चैनल इस केस में रेप और मर्डर की धाराओं को FIR में शामिल होने की खबर चला रहे हैं। यह गलत है। पीड़ित परिवार की भी मांग है कि इन धाराओं को भी जांच में शामिल किया जाए। अटॉप्सी रिपोर्ट आने के बाद ही इन मांगों पर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Required fields are marked *