कोरोना का खतरा देश में.बढ़ेगी सख्ती चीन समेत 6 देशों से आने वालों पर

 कोरोना का खतरा देश में.बढ़ेगी सख्ती चीन समेत 6 देशों से आने वालों पर

भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच चीन समेत 6 देशों से आने वाले यात्रियों पर अगले हफ्ते से सख्ती बढ़ाई जा सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हॉन्ग कॉन्ग, थाईलैंड और सिंगापुर से आने वाले पैसेंजर्स को एयर सुविधा फॉर्म भरना और 72 घंटे पहले का निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य किया जा सकता है।

इधर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया SII ने केंद्र सरकार को कोवीशील्ड की दो करोड़ डोज फ्री देने के कहा है। SII में सरकार और नियामक मामलों के डायरेक्टर प्रकाश कुमार सिंह ने इस मामले पर स्वास्थ्य मंत्रालय को लेटर लिखा है। लेटर में उन्होंने 410 करोड़ रुपए की फ्री डोज देने की बात कही है।

कंपनी ने चीन समेत कई देशों में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के बीच यह फैसला लिया है। सूत्रों के मुताबिक, डायरेक्टर प्रकाश कुमार ने लेटर के जरिए मंत्रालय से पूछा कि कोवीशील्ड की डिलीवरी कैसे की जाए? बता दें कि SII वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तहत भारत में अब तक कोवीशील्ड की 170 करोड़ से अधिक डोज दे चुका है

पहले देश में कोरोना के अब तक के अपडेट्स पढ़ें...

एयर इंडिया एक्सप्रेस ने UAE से आने वाले पैसेंजर्स के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य कर दिया है।

हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, देश में कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा 220 करोड़ डोज को पार कर गया है।

बिहार में कोरोना केसेस में 10 गुना की बढ़ोतरी हुई है। राज्य स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, राज्य में रविवार तक कोई भी एक्टिव केस नहीं था। अब यहां केसों की संख्या 14 है। इनमें से 12 अकेले गया में हैं।

उत्तराखंड सरकार ने राज्य के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है। सभी को सैनिटाइजर-थर्मल स्क्रीनिंग का इस्तेमाल करना होगा। बिना मास्क के स्कूल में एंट्री नहीं दी जाएगी।

भारत के लिए अगले 40 दिन मुश्किल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि जनवरी के मध्य में भारत में कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं। पिछले ट्रेंड्स के एनालिसिस के बाद यह माना जा रहा है कि अगले 40 दिन देश के लिए मुश्किल होंगे। सूत्रों के मुताबिक, देश में कोरोना की एक और लहर आ सकती है। ऐसे में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की जा रही है। दरअसल, ऐसा देखा गया है कि ईस्ट एशिया को प्रभावित करने के 30 से 35 दिनों बाद ही भारत में नई लहर पहुंची थी। यह एक ट्रेंड रहा है, जिसके आधार पर यह दावा किया जा रहा है।

मुंबई-चेन्नई में दो, कर्नाटक में चार केस मिले

मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बुधवार को रैंडम सैंपलिंग के दौरान दो विदेशी यात्री कोविड पॉजिटिव पाए गए। दोनों के सैंपल को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेज दिया गया है। उधर, बुधवार को दुबई से आए दो यात्री चेन्नई एयरपोर्ट पर COVID पॉजिटिव मिले हैं। ये दोनों तमिलनाडु के पुदुक्कोट्टई के अलंगुडी जिले के रहने वाले हैं। वहीं, कर्नाटक में भी चार लोग पॉजिटिव पाए गए। ये सभी लोग विदेश से भारत लौटे हैं।

गया में दो विदेशी नागरिक, UP में दो अन्य संक्रमित

बिहार के गया में एक बार फिर दो विदेशी नागरिक कोरोना संक्रमित मिले हैं। ये बैंकॉक और ताइवान के रहने वाले हैं। गया में अब तक कुल 19 लोग पॉजिटिव मिले हैं। लखनऊ में कोरोना के दो केस सामने आए हैं। इसमें एक चिनहट की 56 साल की बुजुर्ग महिला है। जबकि दूसरा 48 साल का पुरुष है। महिला ओडिशा से लौटी है। मगर, हैरानी वाली यह है कि पुरुष की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है।

चंडीगढ़ में अमेरिका से लौटा स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव

चंडीगढ़ स्थित पंजाब यूनिवर्सिटी PU के एक बॉयज हॉस्टल में बुधवार को अमेरिका से लौटा एक स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव पाया गया। हॉस्टल नंबर 4 में पॉजिटिव आए स्टूडेंट को 2 जनवरी तक के लिए क्वारैंटाइन किया गया है। चंडीगढ़ प्रशासन के नोडल ऑफिसर के दफ्तर से आई टीम के निर्देशों पर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और होम क्वारैंटाइन की कार्रवाई शुरू कर गई है। बता दें कि कोरोना का नया खतरनाक वैरिएंट अमेरिका, चीन, ब्राजील समेत कई देशों में फैल रहा है।

3 दिन में 43 विदेशी पॉजिटिव मिले

देश में पिछले 3 दिन में 43 विदशी यात्री पॉजिटिव पाए गए। इनमें श्रीलंका के रास्ते चीन से तमिलनाडु आई एक महिला और उसकी 6 साल की बच्ची भी शामिल है। 24 दिसंबर से 26 दिसंबर तक 498 फ्लाइट्स की स्क्रीनिंग की गई है। इस दौरान 1,780 सैंपल लिए गए। इन्हें जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया है। कोरोना की तैयारियों की जांच करने के लिए मंगलवार को देश के करीब सभी राज्यों में मॉक ड्रिल की गई।

नए कोविड का इन्फेक्शन रेट अधिक

AIIMS के महामारी विशेषज्ञ संजय के. राय ने कहा कि नए कोविड वेरिएंट का इन्फेक्शन रेट अधिक है और इससे संक्रमित व्यक्ति 10-18 लोगों को संक्रमित कर सकता है। इससे पहले वाला वैरिएंट 5-6 लोगों को संक्रमित कर सकता था, जिन्हें पहले कोविड हो चुका है या वैक्सीन लगवाई है उन्हें भी फिर से कोविड हो सकता है।

इसको लेकर WHO और भारत सरकार ने भी दिशा निर्देश जारी किए हैं। सरकार अपने स्तर पर काम कर रही है और इसको लेकर मॉक ड्रिल भी हुई है लेकिन अब जनता सरकार का सहयोग करे। एक अच्छा संकेत है कि भारत में हर्ड इम्यूनिटी बन चुकी है।


Leave a Reply

Required fields are marked *