MP: संविधान बचाने के लिए प्रधानमंत्री की हत्या करने की अपील की, कांग्रेस ने की निंदा

MP: संविधान बचाने के लिए प्रधानमंत्री की हत्या करने की अपील की, कांग्रेस ने की निंदा

भोपाल: मध्यप्रदेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के पूर्व मंत्री राजा पटेरिया ने विवादास्पद टिप्पणी करते हुए लोगों से संविधान और अल्पसंख्यकों, दलितों एवं आदिवासियों का भविष्य बचाने की खातिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने के लिए तत्पर रहने को कहा है। इस मामले में मध्यप्रदेश पुलिस ने पटेरिया के खिलाफ सोमवार को विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। नयी दिल्ली में कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में अपने नेता द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ की गई टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा कि यह बयान पार्टी को स्वीकार्य नहीं हैं।

सोशल मीडिया पर सोमवार सुबह सामने आए एक वीडियो में पटेरिया को कांग्रेस कार्यकर्ताओं से यह कहते हुए सुना जा सकता है, मोदी चुनाव खत्म कर देंगे। मोदी धर्म, जाति, के आधार पर (लोगों को) बांट देंगे। दलितों का, आदिवासियों का, अल्पसंख्यकों का भावी जीवन खतरे में है। संविधान बचाना है तो मोदी की हत्या करने के लिए तत्पर रहो। हत्या का मतलब है, हराने का काम करो। पटेरिया का यह कथित वीडियो मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के पवई स्थित लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह का है। लोक निर्माण विभाग के उपयंत्री संजय कुमार खरे की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया है।

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यहां एक बयान जारी कर कहा, शिकायत के बाद सोमवार दोपहर पन्ना जिले के पवई पुलिस थाने में पटेरिया के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मिश्रा ने कहा, पुलिस ने पाया कि पटेरिया के द्वारा एक जनसभा में धर्म, जाति और के आधार पर दलित, अल्पसंख्यक एवं आदिवासी समुदाय के बीच घृणा तथा वैमनस्य फैलाने का कार्य प्रतीत हुआ है, इससे लोक शांति भंग होना पुलिस ने पाया है। उन्होंने बताया, पटेरिया के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 451, 504, 505 (1-बी), 505 (1-सी), 506, 153-बी (1सी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इस बीच, प्रदेश भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी भोपाल में मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से मुलाकात की और पटेरिया की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। प्राथमिकी के अनुसार, संजय कुमार खरे की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया है और इसकी विवेचना की जा रही है। खरे मध्यप्रदेश लोक निर्माण विभाग पवई में उपयंत्री हैं। प्राथमिकी के अनुसार, पटेरिया 11 दिसंबर की दोपहर लोक निर्माण विभाग के पवई स्थित विश्राम गृह में अल्प प्रवास के नाम पर जबरन घुसे और विश्राम गृह की चारदीवारी के अंदर मैदान में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में पटेरिया ने उठकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की बात की। इससे पहले, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पटेरिया की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पर हमला करते हुए ट्वीट किया, भारत जोड़ो यात्रा का ढोंग करने वालों की असलियत सामने आ रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जनता के दिल में बसते हैं। कांग्रेस के लोग मैदान में उनसे मुकाबला नहीं कर पाते, इसलिए उनकी हत्या की बात कर रहे हैं। उन्होंने लिखा, यह विद्वेष की पराकाष्ठा एवं घृणा की अति है। कांग्रेस के असली भाव प्रकट हो रहे हैं। ऐसी चीजों को सहन नहीं किया जाएगा। कानून अपना काम करेगा। वहीं, भाजपा की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने इस वीडियो को टैग करते हुए ट्वीट किया, (मध्यप्रदेश के) पूर्व मंत्री राजा पटेरिया द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी की हत्या के लिए जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को उकसाना अत्यंत गंभीर और निंदनीय है। क्या हाल में मध्यप्रदेश से निकली राहुल गांधी की भारत तोड़ो यात्रा में इस साजिश की तैयारी हुई? इसकी जांच होनी चाहिये।

इसी बीच, पटेरिया ने एक वीडियो बयान जारी कर स्पष्ट किया कि उनका इरादा चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी को हराना था, लेकिन उनकी टिप्पणी को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। वहीं, कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार विभाग के प्रमुख पवन खेड़ा ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस विवादास्पद टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कहा, बिल्कुल निंदनीय। प्रधानमंत्री या किसी के खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस पार्टी ऐसे बयानों की निंदा करती है। उन्होंने कहा कि भले ही यह गलतफहमी हो या जुबान फिसल गई हो, लेकिन उन्हें ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था। खेड़ा ने कहा, खासकर प्रधानमंत्री सहित किसी के खिलाफ ऐसी किसी भी का इस्तेमाल करने का कोई बहाना नहीं है।

Leave a Reply

Required fields are marked *