3 किलो सोना चुराया फिर 7 दिन तक सोया नहीं

3 किलो सोना चुराया फिर 7 दिन तक सोया नहीं

कानपुर में दोस्त का 3 किलो सोना चुराने वाला गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि चोरी करने के बाद आरोपी 7 दिनों तक सो नहीं पाया। सोने को ठिकाने लगाने के लिए चार राज्यों में भटकता रहा, लेकिन उसको समझ ही नहीं आ रहा था कि वो इतने ज्यादा सोने का क्या करे।

थक हार कर उसने कानपुर में अपने घर में सोना छिपाने का प्लान बनाया, लेकिन पुलिस ने लोकेशन ट्रैक पर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने जो सोना चुराया था, उसकी कीमत 1.75 करोड़ बताई जा रही है।

दोस्त का 3 किलो सोना कैसे चुराया, पहले इसे पढ़िए

दोस्त को झांसे में लेकर चुराया सोना

चमनगंज के रहने वाले नदीम और जूही के रितिक राज वर्मा दोस्त हैं। दोनों अलग-अलग जगह सराफा का काम करते हैं। नदीम को कैश की जरूरत थी। उसके पास 3 किलो सोना था। इसके चलते 23 नवंबर को वह तीन किलो सोने को गिरवी रखने के लिए निकला। तभी उसकी मुलाकात दोस्त रितिक से हुई।

नदीम ने रितिक को बताया कि वो सोना गिरवी रखने आया है। इस पर ऋतिक ने कहा कि वो बिरहाना रोड में एक सर्राफ को जानता है, जो भरोसे का है। वो उसके वहां पर सोना गिरवी रखवा देगा। इस पर दोनों तीन किलो सोना लेकर बिरहाना रोड पहुंचे।

चाय की दुकान पर बैठाकर ले गया सोना

रितिक ने नदीम को चाय की दुकान पर बैठा दिया। उससे कहा कि वह सर्राफ को सोना दिखाकर आएगा। एक घंटे के इंतजार के बाद भी रितिक वापस नहीं लौटा। नदीम ने तलाश शुरू की तो पता चला कि रितिक सोना लेकर भाग गया है। उसने अपना फोन भी बंद कर लिया। ऐसे में नदीम ने फीलखाना थाने में रितिक के खिलाफ FIR दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी दोस्त की तलाश शुरू कर दी।

सोना चुराने के बाद आरोपी ने क्या किया, अब ये पढ़ें

डर के चलते 7 दिन नहीं सोया

थाना प्रभारी अमित भड़ाना ने बताया कि शातिर रितिक माल लेकर भागने के बाद सबसे पहले प्रयागराज गया। वहां पर वह होटल में रुका। उसे समझ में नहीं आ रहा था कि वो सोने को किसे बेचे। उसे पकड़े जाने का डर था। वह 7 दिनों तक सोने की सुरक्षा की चिंता में सोया तक नहीं। वह सोना बेचने के लिए 7 दिन में लखनऊ से प्रयागराज 232 किमी. फिर प्रयागराज से दिल्ली 700 किमी., उसके बाद दिल्ली से सूरत 1150 किमी., सूरत से रतलाम 429 किमी., रतलाम से कानपुर 774 किमी (लगभग 3285) का सफर किया। डर इतना था कि सफर के दौरान रितिक न तो ट्रेन में सोया और न ही बस में।

कानपुर आने पर पुलिस ने गिरफ्तार किया

थक हार कर उसने कानपुर में ही माल ठिकाने लगाने का प्लान बनाया। सोमवार को वह कानपुर अपने घर वापस लौटा। फीलखाना पुलिस ने सर्विलांस की मदद से कानपुर में लोकेशन मिलते ही रितिक को माल समेत अरेस्ट कर लिया। आरोपी को घंटाघर से टाटमिल चौराहा जाने वाले पुल पर पकड़ा गया है।

90 परसेंट रुपए दिलाने के नाम पर झांसे में लिया

पूछताछ में शातिर ने बताया कि पुलिस को बताया, नदीम सोना कहीं पर भी गिरवी रख सकता था, लेकिन मैंने सोने के बदले 90 परसेंट रुपए दिलाने का झांसा दिया। इसके चलते नदीम जाल में फंस गया। आरोपी के कब्जे से 79 नग सोना और 25 लाख रुपए कैश बरामद किया गया है। रितिक ने पुलिस को बताया कि जो 25 लाख रुपए बरामद किए गए हैं, वो उसके अपने हैं।

Leave a Reply

Required fields are marked *