राष्ट्रीय प्रेस दिवस: अनुराग ठाकुर ने फर्जी ख़बरों से बचने की अपील, मीडिया के लिए भी कही ये बड़ी बात

राष्ट्रीय प्रेस दिवस: अनुराग ठाकुर ने फर्जी ख़बरों से बचने की अपील, मीडिया के लिए भी कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली: सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने ध्यान खींचने वाले शीर्षकों और फर्जी खबरों को लेकर सचेत करते हुए बुधवार को कहा कि मीडिया को जिम्मेदार, निष्पक्ष और संतुलित पत्रकारिता का स्थान किसी दूसरे के लिये रिक्त नहीं छोड़ना चाहिए. राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए ठाकुर ने मीडिया से आग्रह किया कि उन्हें इस बात का आत्मचिंतन करना चाहिए कि वे स्वयं को सूचनाओं के अतिरेक के वायरस से किस प्रकार बचा सकते हैं जो भौगोलिक सीमाओं से परे दुर्भावनापूर्ण दुष्प्रचार को बढ़ा रहा है.

भारतीय प्रेस परिषद पीसीआई द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सूचना प्रसारण मंत्री ने कहा, यह अत्यधिक खेदजनक है कि एक प्रमुख डिजिटल मीडिया प्लेटफार्म को हाल ही में हमारी सरकार को निशाना बनाने के लिये दुर्भावनापूर्ण दुष्प्रचार में शामिल पाया गया. उन्होंने कहा कि यह इसलिये भी खेदजनक है क्योंकि ऐसा करते हुए यह भी ध्यान नहीं रखा गया कि इसका भारत की छवि और राष्ट्र की प्रतिष्ठा पर क्या प्रभाव पड़ेगा. उन्होंने कहा कि दुष्प्रचार को हथियार बनाने की समस्या से दुनियाभर के लोकतंत्र अवगत हैं.

मीडिया में स्वनियमन ढांचे का जिक्र करते हुए ठाकुर ने कहा कि लेकिन स्वनियमन का मतलब यह नहीं है कि किसी को गलती करने का लाइसेंस मिलता हो. उन्होंने कहा कि इससे मीडिया की विश्वसनीयता कम होती है तथा पक्षपात एवं पूर्वाग्रह से बचा जाना चाहिए. केंद्रीय मंत्री ने पेड न्यूज और फर्जी समाचार की दोहरी चिंता को रेखांकित करते हुए आश्चर्य जताया कि क्या संपादकीय सामग्री और विज्ञापन के रूप में खबर के बीच अंतर की रेखा का तेजी से समाप्त होना मीडिया के लिये अच्छा है?

उन्होंने कहा कि मीडिया को जिम्मेदार, निष्पक्ष और संतुलित पत्रकारिता के स्थान को किसी दूसरे के लिये रिक्त नहीं छोड़ना चाहिए. परिषद की अध्यक्ष न्यायमूर्ति रंजना प्रकाश देसाई ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की. वरिष्ठ पत्रकार स्वपन दासगुप्ता ने भी इस कार्यक्रम को संबोधित किया.

Leave a Reply

Required fields are marked *