T20 World Cup 2022: मैथ्यू हेडन ने बताया, क्यों सेमीफाइनल से पहले ही बाहर हो गई ऑस्ट्रेलिया

T20 World Cup 2022: मैथ्यू हेडन ने बताया, क्यों सेमीफाइनल से पहले ही बाहर हो गई ऑस्ट्रेलिया

सिडनी: पाकिस्तान के कोच और पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया ने अपनी मेजबानी में आयोजित टी20 विश्व कप के लिए पूरी तैयारी नहीं की, जबकि दुनिया की दूसरी टीमों ने विश्व कप के लिए पर्याप्त तैयारी की. हेडन ने अफगानिस्तान मैच के लिए मिचेल स्टार्क को बाहर करने के फैसले को काफी महत्वपूर्ण करार दिया.


हेडन ने कहा, 12 महीने पहले हम यहां टी20 विश्व विजेता टीम ऑस्ट्रेलिया की बात कर रहे थे. टूर्नामेंट एक के बाद एक आ रहे हैं. हालांकि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के दृष्टिकोण से आगामी विश्व कपों के लिए तैयारी की जानी चाहिए. यह बड़े टूर्नामेंट हैं और विश्वभर में हर कोई इसकी तैयारी करता है. दुर्भाग्यवश ऑस्ट्रेलिया इस बार सही तरीके से यह नहीं कर पाया.


हेडन ने ऑस्ट्रेलियाई चयनकर्ताओं से भविष्य की ओर आगे बढ़ते हुए कुछ कठोर निर्णय लेने को कहा है. घरेलू धरती पर ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने यहां चल रहे टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल से पहले ही बाहर हो गई. 2024 में वेस्टइंडीज और अमेरिका में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए खिलाड़ियों में खासा बदलाव होने की उम्मीद है. हालांकि, उससे पहले भारत में अगले साल अक्टूबर में वनडे विश्व कप होना है.


चयनकर्ताओं ने इस महीने के अंत में इंग्लैंड का सामना करने के लिए एक सशक्त टीम का नाम देकर उस टूर्नामेंट की दिशा में पहला कदम उठाया है. इस टीम में एरॉन फिंच के रिप्लेसमेंट के तौर पर ट्रेविस हैड को अपना स्थान मजबूत करने का मौका दिया गया है.


पिछले साल टी20 विश्व कप जीतने वाले दल की तुलना में इस साल केवल एक बदलाव किया गया था. टिम डेविड ने मिचेल स्वेप्सन की और फिर कैमरन ग्रीन ने चोटिल जोश इंग्लिश की जगह ली थी. फिंच ने कहा है कि वह फिलहाल अपने भविष्य पर कोई फैसला नहीं लेंगे लेकिन 2024 संस्करण में उनके और मैथ्यू वेड के खेलने की संभावना कम है. स्टीवन स्मिथ के स्थान पर भी सवाल उठेंगे और तेज गेंदबाजी समूह में बदलाव की बात की जाएगी.


पाकिस्तान टीम के मेंटोर हेडन ने पुराने दिनों के साथ तुलना की जब चयनकर्ता भविष्य के विश्व कपों को ध्यान में रखते हुए टीम को बदलने के कठोर फैसले लेते थे. हेडन ने कहा, ऑस्ट्रेलियाई टीम को सोच विचार करना होगा. मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट की एक बड़ी ताकत यह पहचानने की क्षमता रही है कि कब उसे अपने दल में बदलाव करना है. मुझे लगता है कि इस टूर्नामेंट को खेलने वाले खिलाड़ियों को पूरा श्रेय और सम्मान मिलना चाहिए.

Leave a Reply

Required fields are marked *