New Delhi: मोदी ने कहा कि गुजरात को बदनाम करने वालों को विधानसभा चुनाव में राज्य से बाहर कर दिया जाएगा

New Delhi: मोदी ने कहा कि गुजरात को बदनाम करने वालों को विधानसभा चुनाव में राज्य से बाहर कर दिया जाएगा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि घृणा फैलाने वाली और गुजरात को बदनाम करने वाली ताकतों को अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रदेश की जनता बाहर फेंक देगी। इसके साथ ही उन्होंने अगले महीने होने वाले चुनाव में भाजपा के रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज करने का दावा किया। चुनाव से पहले गुजरात आए मोदी ने वलसाड जिले में एक रैली को संबोधित किया और बाद में भावनगर में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में हिस्सा लिया।


विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद अपने गृह राज्य में पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने गुजराती में नया नारा दिया आ गुजरात में बनाव्यु छे यह गुजरात मैंने बनाया है। इतना ही नहीं मोदी ने अपने 25 मिनट लंबे भाषण में लोगों से कई बार यह नारा लगवाया। आदिवासी बहुल वलसाड जिले की कपरादा तालुका के नाना पोंधा गांव से भारतीय जनता पार्टी भाजपा के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जो विभाजनकारी ताकतें घृणा फैलाने में संलिप्त रही हैं, जिन्होंने गुजरात को बदनाम करने और उसका अपमान करने की कोशिशें की हैं, उन्हें गुजरात से बाहर का रास्ता दिखाया गया है। गुजरात की जनता घृणा फैलाने वालों को कभी स्वीकार नहीं करेगी।


उन्होंने कहा, अतीत में जिसने भी गुजरात को बदनाम करने और उसका अपमान करने की कोशिश की है, उन्हें गुजरात की जनता ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इस चुनाव में भी ऐसे लोगों की परिणति यही होगी। किसी का नाम लिए बगैर मोदी ने कहा कि गुजरात के लोगों ने उस गैंग को पहचान लिया है जो गुजरात के खिलाफ काम कर रहा है और हमेशा राज्य को बदनाम करने की कोशिश करता रहता है। उन्होंने कहा, हालांकि ऐसे लोग दो दशकों से प्रयास कर रहे हैं, लेकिन गुजरात की जनता ने उन पर कभी भरोसा नहीं किया।


मोदी ने कहा, जो लोग गुजरात को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं, उन्हें आश्चर्य हो रहा है कि गुजरात की जनता उनके झूठे प्रचार पर भरोसा क्यों नहीं कर रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस राज्य के लोगों ने कड़ी मेहनत से गुजरात को बनाया है और वे किसी को इसे नुकसान नहीं पहुंचाने देंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें सूचनाएं मिल रही हैं कि गुजरात में भाजपा रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीतेगी। विधानसभा चुनाव के लिए गुजरात में दो चरणों में एक और पांच दिसंबर को मतदान होना है। मतों की गिनती आठ दिसंबर को होगी।


मोदी ने कहा, दिल्ली में बैठे-बैठे, मुझे रिपोर्ट मिल रही है कि भाजपा इस बार गुजरात में रिकॉर्ड वोट से जीतेगी। मैं यहां अपना ही पुराना रिकॉर्ड भाजपा की जीत का अंतर तोड़ने आया हूं। मैंने गुजरात भाजपा से कहा है कि मैं जितना संभव है, आपको उतना समय देने चुनाव प्रचार के लिए को तैयार हूं। गौरतलब है कि 2014 में देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने से पहले मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे।


गुजरात में भाजपा का सबसे अच्छा प्रदर्शन दिसंबर 2002 में मोदी के नेतृत्व में हुए चुनाव में रहा जब पार्टी को कुल 182 में से 127 सीट मिली थीं। वहीं, 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए 2017 में हुए चुनाव में भाजपा के हिस्से में 99 और कांग्रेस के हिस्से में 77 सीट आई थीं। मोदी ने लोगों से कहा कि वे याद रखें कि कमल भाजपा का चुनाव चिह्न ही क्षेत्र में समृद्धि लेकर आया है और यह भाजपा के उम्मीदवारों की तरह है।


उन्होंने कहा, आदिवासी हों या मछुआरे, ग्रामीण हों या शहरी, प्रत्येक गुजराती आज विश्वास से भरा है। इसलिए हर गुजराती कहता है आ गुजरात में बनाव्यु छे यह गुजरात मैंने बनाया है। लोगों ने अपनी कड़ी मेहनत से यह राज्य बनाया है। प्रधानमंत्री ने कहा, चूंकि हर गुजराती विश्वास से भरा हुआ है, यही वजह है कि वह अपने मन की बात कहता है। गुजरात के हर दिल से यही आवाज आती है आ गुजरात में बनाव्यु छे यह गुजरात मैंने बनाया है।


उन्होंने कहा कि कुछ दशक पहले तक राज्य के आदिवासी इलाकों में विज्ञान की शिक्षा देने वाला एक भी स्कूल नहीं था, लेकिन आज आदिवासियों की पहुंच उनके क्षेत्र में बने विज्ञान कॉलेजों और विश्वविद्यालयों तक है। मोदी ने कहा कि दक्षिण गुजरात के उमरगाम से लेकर उत्तर गुजरात में अम्बाजी तक पूरे आदिवासी बहुल क्षेत्र में अब पांच मेडिकल कॉलेज हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, आज, लोगों को 24 घंटे बिजली मिल रही है और मुझे बताया गया है कि राज्य के 100 फीसदी घरों में नल का जल पहुंच रहा है।


आज शाम में प्रधानमंत्री ने भावनगर शहर में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में हिस्सा लिया और नवविवाहित जोड़ों से समाज में योगदान देने को कहा। इस सामूहिक विवाह समारोह में 551 ऐसी युवतियों का विवाह हुआ जिनके पिता नहीं हैं। मोदी ने कहा, गुजरात ने धीरे-धीरे सामूहिक विवाह की परंपरा को अपना लिया है। पहले लोग सिर्फ दिखावे के लिए भव्य समारोह आयोजित करने के लिए कर्ज लेते थे। लेकिन अब लोगों को पता है। अब वे सामूहिक विवाह समारोह में हिस्सा ले रहे हैं। प्रधानमंत्री ने नवविवाहित जोड़ों से समाज में योगदान करने को कहा फिर चाहे वह किसी भी रूप में हो चाहे वह भोजन बर्बाद नहीं करना हो या फिर कचरे को अलग-अलग श्रेणी में छांटना ही क्यों ना हो।

Leave a Reply

Required fields are marked *