दिल्ली सरकार का GRAP प्लान: सर्दियों में वायु प्रदूषण से कैसे बचेगी राजधानी

दिल्ली सरकार का GRAP प्लान: सर्दियों में वायु प्रदूषण से कैसे बचेगी राजधानी

नई दिल्ली,  सर्दियां शुरू होते ही हर साल दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्र घने कोहरे की वजह से एयर पॉल्युशन की चपेट में आ जाते हैं. दशहरा खत्म होते ही दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में अचानक से गिरावट देखी गई है. बुधवार को वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग CAQM एनसीआर में Graded Response Action Plan GRAP की स्टेज-1 को लागू कर दिया गया है. वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने एनसीआर क्षेत्र में 500 स्क्वायर मीटर की अपंजीकृत भवन निर्माण को तत्काल रोकने का आदेश दिया है.  क्या है GRAP? GRAP दिल्ली सरकार का वायु गुणवत्ता ख़राब होने की स्थिति में लागू होने वाला चार स्तरीय आपातकालीन प्लान है. ग्रैप GRAP का स्टेज-1 तब लागू किया जाता है जब राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता AQI  211 हो जाती है. GRAP का अगला 3 चरण तब लागू होता है जब दिल्ली की वायु गुणवत्ता- ख़राब, गंभीर और गंभीर+ हो जाती है. इसके अंतर्गत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में भवन निर्माण और ट्रकों का प्रवेश प्रतिबंधित करना आता है. GRAP के अंतर्गत संशोधित उपाय सरकार ने GRAP में कई संशोधन किए हैं. जिसके अंतर्गत ग्रैप के तीसरे चरण यानि वायु गुणवत्ता गंभीर होने की स्थिति में BS-lll के पेट्रोल और BS-lV के डीजल चार पहिया वाहन पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है. वहीं वायु गुणवत्ता गंभीर+ होने की परिस्थिति में जब GRAP का चौथा चरण शुरू होता है ऐसे में सरकार दिल्ली-एनसीआर में बीएस-IV आपातकालीन सेवा की गाड़ियां और जरूरी सामान ढोने वाली गाड़ियों को छोड़ कर सभी चार पहिया वाहन पर प्रतिबन्ध लगा सकती है. वहीं डीजल के हल्के और मध्यम माल धोने वालीं गाड़ियों पर भी प्रतिबंध लगाया जायेगा. वायु गुणवत्ता गंभीर होने पर सभी तरह निर्माण कार्य पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है. हालांकि रेलवे देश सुरक्षा संबंधित प्रोजेक्ट, हॉस्पिटल, मेट्रो, हाई-वे और सड़क निर्माण इस प्रतिबंध के दायरे से बाहर हैं.कुछ अन्य उपाय इंडियन एक्सप्रेस के रिपोर्ट के मुताबिक सरकार वायु गुणवत्ता- गंभीर+ के स्थिति में अन्य उपायों पर भी विचार कर रही है, जैसे कि स्कूलों को बंद करना वाहनों के लिए Odd-Even सार्वजनिक नगरपालिका और निजी कार्यालयों में 50% की क्षमता के साथ वर्क फ्रॉम होम इत्यादि.

Leave a Reply

Required fields are marked *